Skip to main content of main site

भाजपा की भाषा बोल रहे हैं कपिल मिश्रा, आम आदमी पार्टी के ख़िलाफ़ चल रही है एक बड़ी साज़िश

भाजपा की भाषा बोल रहे हैं कपिल मिश्रा, आम आदमी पार्टी के ख़िलाफ़ चल रही है एक बड़ी साज़िश

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने पार्टी कार्यालय में आयोजित हुई प्रेस कॉंफ्रेंस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘कपिल मिश्रा हू-ब-हू भारतीय जनता पार्टी की भाषा बोल रहे हैं। हमारी विदेश यात्राओं को लेकर एक झूठ कपिल मिश्रा ने मीडिया में आकर बोला और बीजेपी के नेता उस झूठ को सच साबित करने में लगे हुए हैं। हमारे उपर यह आरोप लगाया जा रहा है कि हमने विदेशों में जाकर देश के ख़िलाफ़ काम किया है जबकि सच्चाई इससे बिल्कुल अलग है। मैं सिलसिलेवार इसकी जानकारी दे रहा हूं।

-व्यक्तिगत जानकारी दूं तो मैं देश को बताना चाहूंगा कि मैं उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर का रहने वाला हूं जहां मेरे पिताजी और माताजी अध्यापक रहे हैं और मैंने खुद माइनिंग में डिप्लोमा किया है। यूपी में समाजसेवा करने के लिए सामाजिक संस्था बनाई जिसके तहत ग़रीबों को कंबल बांटने से लेकर ग़रीब परिवारों के बच्चों को कपड़े और किताबें बांटने तक के समाजसेवा के काम किए हैं। अन्ना जी के आंदोलन में भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ने के लिए दिल्ली आया और आजतक यहां एक किराए के मकान में रहता हूं।‘

विदेशी दौरों की बात करूं तो सबसे पहले नेपाल में गया तो भूकंप पीड़ितों की सहायता करने के लिए जिसके गवाह के तौर पर कुछ पत्रकार साथी मौजूद हैं जो हमारे साथ उस त्रासदी में वहां अपनी ख़बर कवर करने गए थे। रुस में एक अपने परिचित की पारिवारिक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था जिसका टिकट भी हमारे उन्हीं परिचित ने कराके दिया था। कनाडा और अमेरिका में पार्टी के काम से गया था जिसकी एक-एक तस्वीर मौजूद है जिनको हम सार्वजनिक भी कर रहे हैं, अब इसमें मैंने कौन सा देशद्रोह का काम कर दिया? ये कपिल मिश्रा और भाजपा के लोग बताएं।

आज कपिल मिश्रा को ढाल बनाकर भारतीय जनता पार्टी हमारे ख़िलाफ़ एक षडयंत्र रच रही है और हमारी पार्टी की मान्यता तक रद्द कराने की कोशिश कर रही है। लेकिन मीडिया के माध्यम से यह कहना चाहेंगे यह देश भारतीय जनता पार्टी की बपौती नहीं है जो वो अपनी मनमर्ज़ी चलाएंगे। यहां किसी की तानाशाही नहीं चलने दी जाएगी। और जहां तक बात है देशभक्ति और देशद्रोही की तो हमें ऐसी भारतीय जनता पार्टी से देशभक्ति सीखने की ज़रुरत नहीं है जो शहीदों के ताबूत में घोटाला करते हों, जो व्यापम का घोटाला करते हों, जो कोल ब्लॉक का घोटाला करते हों, जो आईपीएल में हज़ारों करोड़ रुपए का घोटाला करते हों, जो स्विस बैंक में कालाधन जमा रखने वालों को दोस्त बनाकर अपने साथ बिठाते हों। हमें ऐसी भारतीय जनता पार्टी से देशभक्ति सीखने की ज़रूरत नहीं है।

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए ही आम आदमी पार्टी का जन्म हुआ था और हम लड़ते आए हैं और भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के लिए उसके ख़िलाफ़ लड़ते रहेंगे।  

 

ईवीएम से वोट चोरी करके जीतती है भारतीय जनता पार्टी, लोकतंत्र की की जा रही है हत्या

लोकतंत्र को बचाने के लिए AAP शुरु करने जा रही है आंदोलन, गुरुवार से होगी आंदोलन की शुरुआत

 

प्रेस कॉंफ्रेंस में बोलते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता, दिल्ली सरकार में मंत्री और पार्टी के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा कि ‘आज इस देश में भारतीय जनता पार्टी एक षडयंत्र रच रही है जिसके तहत लोकतंत्र की हत्या की जा रही है और देश में एक ही पार्टी और एक ही व्यक्ति की तानाशाही स्थापित की जा रही है। दिल्ली विधानसभा में हमारे माननीय सदस्य श्री सौरभ भारद्वाज ने ईवीएम जैसी एक मशीन के माध्यम से लाइव डैमो करके यह दिखाया कि कैसे ईवीएम को हैक किया जाता है और कैसे भारतीय जनता पार्टी मशीनों से वोट चोरी करती है। आम आदमी पार्टी चुनाव आयोग के समक्ष भी अपनी बात रखेगी और हम चुनाव आयोग से यह भी गुज़ारिश करते हैं कि वो हमें अपनी मशीन दें जिसका मदरबोर्ड बदलकर हम उनकी मशीन को भी हैक करके देश के सामने सच्चाई रख देंगे।

किसी भी लोकतंत्र में जनता की आवाज़ और जनता के वोट देने के अधिकार की रक्षा का मुद्दा सबसे अहम होता है लेकिन यहां भारत देश में इसे कुचला जा रहा है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब के चुनाव के बाद यह शक गहरा गया था कि जो चुनाव नतीजे आए हैं वो जनता की पसंद नहीं हैं। भिंड में ईवीएम पर कोई भी बटन दबाने से बीजेपी की पर्ची निकलना और फिर राजस्थान के धौलपुर में भी ऐसे ही बीजेपी के पक्ष में मशीनों का खराब होना यह साबित करता है कि देश में एक बहुत बड़ा षडयंत्र चल रहा है जिसके तहत लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है और तानाशाही स्थापित की जा रही है।

आज की तारीख़ में विश्व के विकसित देश भी ईवीएम को नकार चुके हैं और बैलेट पेपर से चुनाव कराते हैं क्योंकि ईवीएम की विश्वसनीयता ज़ीरो हो चुकी है। माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा था कि बिना वीवीपैट (पेपर ट्रेल) के ईवीएम से चुनाव कराना निष्पक्षता के पैमाने पर एकदम शून्य होगा। बावजूद इसके भारत में चुनाव के दौरान ईवीएम को हैक करके जनता और देश के लोकतंत्र का गला दबाने का काम भारतीय जनता पार्टी कर रही है।

आम आदमी पार्टी लोकतंत्र को बचाने के लिए दृढ़-संकल्प है और हम ईवीएम के इस मुद्दे को लेकर पूरे देश में आंदोलन की शुरुआत कर रहे हैं, गुरुवार से शुरु होने वाले इस आंदोलन के तहत राजधानी दिल्ली से इसकी शरुआत की जाएगी जिसे देशव्यापी बनाया जाएगा। राजधानी में आम आदमी पार्टी चुनाव आयोग और देश की सत्ता में बैठी भारतीय जनता पार्टी के समक्ष प्रदर्शन के ज़रिए यह गंभीर मुद्दा रखेगी। इसके अलावा चुनाव आयोग की ऑल पार्टी मीटिंग में भी अपनी बात तथ्यों के साथ रखेंगे। साथ ही हम चुनाव आयोग की उस चुनौती का भी इंतज़ार कर रहे हैं जिसके तहत ईवीएम को हैक करके दिखाना होगा, हम चुनाव आयोग से गुज़ारिश करेंगे कि वो हमें अपनी मशीन दें और हम उसके मदरबोर्ड को बदलकर उसे हैक करके दिखा देंगे और देश की जनता को सच से रुबरु करा देंगे।

Related Story

Make a Donation